Isharon Isharon Mein Song Lyrics From Movie Kashmir Ki Kali

Isharon Isharon Mein Song Lyrics From Movie Kashmir Ki Kali

ABOUT

Song : Isharon Isharon Mein 
Starring : Sharmila Tagore & Shammi Kapoor 
Movie : Kashmir Ki Kali 
Singers: Asha Bhosle & Mohammed Rafi 
Music Director: O P Nayyar.

ORIGINAL




KARAOKE






LYRICS


ENGLISH LYRICS


(M): Hohhh..............
hohh...............
haaaaaa............
(F): Hai.....
Isharo isharo me dil lene wale,
bata yeh hunar tune sikha kaha se
(M): Nigaho nigaho me jadu chalana,
meree jan sikha hain tumne jaha se
Aaaaaa..aaaaaa..aaa
(F): Aaa..haaaa...aaha
(M): Mere dil ko tum bha gaye,
meree kya thee iss me khata
Mujhe jis ne tadapa diya,
yahee thee woh jalim ada
yahee thee woh jalim ada
Yeh ranja kee bate, yeh majanu ke kisse
Alag toh nahee hain meree dasta se
(F): Isharo isharo me dil lene wale,
bata yeh hunar tune sikha kaha se


(F): Oh Mohabbat jo karte hain woh,
mohabbat jatate nahee
Dhadakane apane dil kee kabhee,
kisee ko sunate nahee-2
Maja kya raha jab ke khud kar diya ho
Mohabbat kaa ijahar apni juban se
(M): Nigaho nigaho me jadu chalana,
meree jan sikha hain tumne kaha se



(M): Ho Mana ke jane jaha
lakho me tum ek ho
Humaree nigaho kee bhee
kuchh toh magar dad do
kuchh toh magar dad do
Baharo ko bhee naj jis phul par tha
Wahee phul hamne chuna gulsita se
(F): Isharo isharo me dil lene wale,
bata yeh hunar tune sikha kaha se
(M): Nigaho nigaho me jadu chalana,
meree jan sikha hain tumne jaha se
(F): bata yeh hunar tune sikha kaha se
(M): meree jan sikha hain tumne jaha se
(F): bata yeh hunar tune sikha kaha se

HINDI LYRICS


इशारों इशारों में दिल लेने वाले
बता ये हुनर तूने सीखा कहाँ से
निगाहों निगाहों में जादू चलाना
मेरी जान सीखा है तुमने जहाँ से
मेरे दिल को तुम भा गए
मेरी क्या थी इस में खता
मुझे जिसने तड़पा दिया
यही थी वो ज़ालिम अदा
ये राँझा की बातें, ये मजनू के किस्से
अलग तो नहीं हैं मेरी दास्तां से
इशारों इशारों में दिल लेने वाले
बता ये हुनर तूने सीखा कहाँ से
मुहब्बत जो करते हैं वो
मुहब्बत जताते नहीं
धड़कने अपने दिल की कभी
किसी को सुनाते नहीं
मज़ा क्या रहा जब की खुद कर दिया हो
मुहब्बत का इज़हार अपनी ज़ुबां से
निगाहों निगाहों में जादू चलाना
मेरी जान सीखा है तुमने जहाँ से
माना की जान-ए-जहां
लाखों में तुम एक हो
हमारी निगाहों की भी
कुछ तो मगर दाद दो
बहारों को भी नाज़ जिस फूल पर था
वही फूल हमने चुना गुलसितां से
इशारों इशारों में दिल लेने वाले
बता ये हुनर तूने सीखा कहाँ से
निगाहों निगाहों में जादू चलाना
मेरी जान सीखा है तुमने जहाँ से
बता ये हुनर तूने सीखा कहाँ से
मेरी जान सीखा है तुमने जहाँ से
बता ये हुनर तूने सीखा कहाँ से
मेरी जान सीखा है तुमने






Previous Post Next Post